लाभ और हानि की परिभाषा, लाभ हानि फार्मूला | Profit and Loss in Hindi

लाभ और हानि हमारे असल जीवन के अभिन्न हिस्से हैं, लाभ और हानि की परिभाषा कोई मुश्किल नहीं है। हम आपको लाभ हानि सूत्र और Profit and loss से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी इस लेख में आगे देंगे।

लाभ का सीधा सा मतलब होता है Profit और हानि का मतलब Loss. यानी की रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में चाहे आप कोई स्टूडेंट हो, हाउसवाइफ हो, नौकरी पेशा इंसान हो या कोई ऑफिस में काम करने वाले प्रोफेशनल, लाभ और हानि से आपका पाला पड़ता ही है।

जब आप कोई व्यापारिक लेन-देन करते हैं जैसे कि सामान बेचना यदि आप लेन-देन में कुछ राशि कमाते हैं तो वह राशि लाभ कहलाती है और यदि आप कुछ राशि खो देते हैं तो इसे हानि कहा जाता है। आइए कुछ मात्राओं की तुलना लाभ और हानि से करें।

लाभ और हानि से जुड़े शब्द  | Labh Hani se Jude Shabd

जब हम किसी सामान को एक तय कीमत पर खरीदते हैं और फिर उसे दूसरी कीमत पर बेचते हैं, तो हमें या तो लाभ होता है या हानि होगी। 

ऐसे बहुत से शब्द हैं जो रोज़ाना के जीवन जुड़े हैं। जैसे, Cost Price, Selling Price, discount, Marked Price, (Profit) और (Loss)।  नीचे हम इन सभी बातों को एक एक करके आपको विस्तार से profit and loss formula के साथ समझायेंगे।

लागत मूल्य 

जिस भी मूल्य पर हम कोई सामान खरीदते हैं उसे लागत मूल्य कहा जाता है। जैसे, यदि पार्थ ने 80 रूपए में एक मोबाइल कवर खरीदा, तो यह कवर का लागत मूल्य है। इसे Cost Price या C.P कहते हैं। 

विक्रय मूल्य 

जिस कीमत पर हम या कोई भी किसी सामान को बेचता है उसे सामान का विक्रय मूल्य कहते हैं। जैसे, अगर पार्थ ने उस मोबाइल कवर को 100 में बेच दिया, तो 100 कवर का विक्रय मूल्य कहलायेगा। इसे S.P. यानि की Selling Price भी कहते हैं। 

लाभ | Profit

जब, किसी भी लेन-देन में, Selling price जो है वो Cost Price से अधिक होता है, तब आप लाभ कमाते हैं। जैसे ऊपर में पार्थ ने जो कमाया वह 20 रूपए है, वो पार्थ का लाभ है। 

आप चाहें तो लाभ को फार्मूला से भी निकाल सकते हैं: लाभ = विक्रय मूल्य – लागत मूल्य। 

हानि | Loss

जब, किसी भी लेन-देन में, Cost Price  जो है वो Selling Price से ज्यादा है, तब समझ लीजिये आपको हानि हुयी है। 

जैसे, अगर पार्थ ने उस 80 रूपए के मोबाइल कवर को 70 रूपए में बेच दिया होता तो उसे 10 रूपए की हानि हो जाती। हानि को फार्मूला से निकला जा सकता है, हानि = Cost Price – Selling Price. 

अंकित मूल्य

अंकित मूल्य मतलब किसी भी सामान पर लिखा हुआ मूल्य। जैसे अगर अचार की भरनी है उसमें 100 रूपए लिखा है तो वह उसका अंकित मूल्य कहलायेगा और बेचने वाला इसी मूल्य पर डिस्काउंट दे सकता है। फिर जब डिस्काउंट करने के बाद दुकानदार जिस भी मूल्य में आपको अचार की भरनी देगा वो बिक्री मूल्य कहलायेगा।

जैसे: स्यालि एक स्टोर पर खरीदारी के लिए जाती है जहां सब कुछ 50% की छूट पर है। एक कपड़े पर मूल्य टैग 1200 है। इसका मतलब यह होगा कि डिस्काउंट से पहले कपड़े पर अंकित मूल्य = 1200 है। 

छूट | Discount

बिज़नेस में अपने प्रतिस्पर्धियों से जीतने और बिक्री को बढ़ाने के लिए, अक्सर दुकानदार ग्राहकों को छूट(Discount) देते हैं। यह जो छूट या ऑफर दिया जाता है इसे ही डिस्काउंट कहा जाता है। छूट हमेशा वस्तु के अंकित मूल्य पर दी जाती है।

डिस्काउंट = अंकित मूल्य – विक्रय मूल्य 

छूट (%) = डिस्काउंट/Marked Price × 100

जैसे स्यालि जहाँ गयी वहां कपड़े का अंकित मूल्य 1200 है, और उस पर 50% का डिस्काउंट भी है, तो मतलब स्यालि को वो कपड़ा:

कपडे पर लिखे हुए रेट पर 50% का डिस्काउंट = (50/100) × 1200

Discount = 60000/100 = 600

इसलिए, Selling price = (Marked Price) – छूट = 1200 – 600 = 600

यह भी पढ़े: आयत किसे कहते हैं?

लाभ और हानि सूत्र – labh hani formula | Profit and Loss Formula in Hindi

आइए, अब लाभ-हानि की गणना के लाभ हानि फार्मूला सीखते हैं।

लाभ सूत्र | Profit Formula

अगर किसी सामान का बेचने का रेट उसके खरीदने वाले रेट से अधिक है, तो लाभ होता है। लाभ निकालने के लिए फार्मूला है: Profit = SP – CP. 

हानि सूत्रLoss Formula

अगर किसी सामान का बेचने का रेट उसके खरीदने वाले रेट से कम है,, तो हानि होती है। हानि निकालने के लिए फार्मूला: हानि = CP – SP

लाभ हानि प्रतिशत का फार्मूला | Labh pratishat ka formula

labh pratishat ka sutra (%) या हानि प्रतिशत का सूत्र (%) और कुछ नहीं बल्कि यही है की आपको अगर पता लगाना है की आपको जो लाभ हुआ है वो कितना प्रतिशत हुआ है और जो हानि हुयी है वो कितनी प्रतिशत हुयी है इसी को फार्मूला के ज़रिये आप पता लगा सकते हैं – 

जैसे: अगर किसी सामान का CP = 1000 और SP = 1100, तो लाभ प्रतिशत होगा:

लाभ = एसपी – सीपी

= 1100 – 1000 = 100

लाभ (%) = (लाभ/सीपी) × 100

= (100/1000) × 100

= 10 %

इसी तरह हानि प्रतिशत निकलने का फार्मूला भी आसान है – 

हानि % = (हानि/सीपी) x 100

यह भी पढ़े: स्कैनर क्या है?

क्रय मूल्य और विक्रय मूल्य और उनके सूत्र

क्रय मूल्य और विक्रय मूल्य हमारी ज़िन्दगी से जुड़े शब्द हैं लेकिन आज के दौर में जहाँ सोशल मीडिया का उपयोग बढ़ गया है हम सभी शुद्ध हिंदी और ऐसी भाषा का प्रयोग कम करने लगे हैं। विस्तार से इनके बारे में जानते हैं साथ ही क्रय मूल्य और विक्रय मूल्य के सूत्र को भी विस्तार से समझेंगे।

क्रय मूल्य या लागत मूल्य

क्रय मूल्य की बात करें तो यह और कुछ नहीं बल्कि Cost Price या Purchase Price ही है मतलब सामान की खरीद मूल्य। यानी कोई भी सामान को जिस मूल्य में खरीदा जाता है वो क्रय मूल्य या लागत मूल्य कहलाता है।

क्रय मूल्य का सूत्र| Kray Mulya Ka Formula

वैसे तो क्रय मूल्य निकालने के एक से अधिक सूत्र हो सकते हैं हम आपको नीचे कुछ ऐसे क्रय मूल्य के सूत्र बताएँगे जो आपको हर जगह काम आएंगे, जैसे –

  1. क्रय मूल्य = विक्रय मूल्य – लाभ
  2. क्रय मूल्य = विक्रय मूल्य + हानि
  3. क्रय मूल्य = विक्रय मूल्य (1+लाभ/100)

विक्रय मूल्य या बिक्री मूल्य

विक्रय मूल्य की बात करें तो यह Selling Price कहलाता है, मतलब किसी भी सामान को बेचने का मूल्य जो होता है वो विक्रय मूल्य होता है।

विक्रय मूल्य का सूत्र | Vikray Mulya Formula In Hindi

जैसा की हमने ऊपर इस लेख में बताया की विक्रय मूल्य को Selling Price भी कहते हैं तो विक्रय मूल्य का सूत्र भी एकदम आसान है, जैसे –

  1. विक्रय मूल्य = क्रय मूल्य + लाभ
  2. विक्रय मूल्य = क्रय मूल्य – हानि

यह भी पढ़े: क्रिया किसे कहते हैं?

लाभ और हानि के महत्वपूर्ण नोट्स

नीचे दिए गए लाभ और हानि से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण नोट्स हैं जिनका हमने इस लेख में अध्ययन किया है। एक नज़र देख लो!

  • लाभ (Profit) = एसपी (Cost Price)- सीपी (Selling Price)
  • हानि = सीपी – एसपी
  • लाभ (%) = {लाभ/सीपी} × 100
  • हानि (%) = {हानि/सीपी} × 100
  • छूट = अंकित मूल्य – विक्रय मूल्य
  • छूट (%) = (छूट/एमपी) × 100
  • Selling Price = profit + cost price
  • SP = Cost price – loss
  • CP = SP – profit
  • Cp = loss + selling price
  • profit% = (profit × 100)/cost price
  • loss% = (loss × 100)/cost price
  • Selling price = cost price (1 + profit/100)
  • CP = SP/ (1 + profit/100)
  • SP = CP (1 – loss/100) cost price = selling price/(1 – loss/100)

यह भी पढ़े: 1 से 100 तक हिंदी में गिनती

अंतिम पंक्तियाँ 

वैसे तो लाभ और हानि की परिभाषा, लाभ हानि सूत्र और इनसे जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी आपको ऊपर इस लेख में हमने बता दी है, सभी की परिभाषा और फार्मूला के साथ। अब आपकी बारी है की आप इन फार्मूला आदि को पढ़ें और कुछ सवालों को हल करें ताकि आपको यह सब formula मुँह ज़बानी याद रहे और कभी आपको वापस देखना ना पड़े। 

आपको यह लाभ और हानि से जुडी जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं। 

Add a Comment

Your email address will not be published.